ANNOUNCEMENTS :
  • समय सीमा: पंचायतें (जिला, मध्यवर्ती और ग्राम पंचायत, जैसा मामला हो) पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन आवेदन 20सितंबर, 2017th तक कर सकते हैं और राज्‍य 30 अक्टूबर 2017 तक पंचायती राज मंत्रालय को सत्यापन के बाद राज्य/ संघ राज्‍य क्षेत्र ऑनलाइन नामांकन जमा/अग्रेषित कर सकते हैं।.

    ऑनलाइन आवेदन फॉर्म प्रविष्‍टि के लिये शुरू कर दिए गए हैं। नवीनतम अद्यतन के लिए कृपया इस साइट को नियमित रूप से देखें
    पिछले वर्ष एनआईसी द्वारा प्रदान किए गए यूजरनेम और पासवर्ड ही इस वर्ष भी उसी तरह काम करेंगे। नए यूजरनेम और पासवर्ड की जरूरत नहीं होगी। किसी तरह की भी कठिनाई होने पर पंचायती राज मंत्रालय के ई-मेल के पते awards-mopr@nic.in और panchayatawards@googlegroups.com पर संपर्क किया जा सकता है:

वर्ष 2018 के पंचायत पुरस्कारों के लिए आपका स्वागत है

पंचायती राज मंत्रालय, भारत सरकार 2011-12 के बाद से राज्य सरकारों / संघ राज्‍य क्षेत्रों द्वारा अनुशंसित श्रेष्‍ठ कार्य करने वाली पंचायतों को प्रोत्साहित करता रहा है। पुरस्कार हर साल 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के अवसर पर दिए जाते हैं।

वर्ष 2018 में दिए जाने वाले पुरस्कारों (मूल्यांकन वर्ष 2016-17) के लिए निम्नलिखित ऑनलाइन प्रारूपों में नामांकन आमंत्रित किए जाते हैं :-

क्र.सं. पुरस्कार का नाम पुरस्कार की संख्या आवेदन पत्र का प्रारूप नामांकन की संख्या संदर्भ
1. दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार (डीडीयूपीएसपी) पंचायतों के सभी तीन स्तरों के सामान्य और विषयगत श्रेणियों के लिए दिया जाता है। सूची के अनुसार (कुल पुरस्कारों का एक तिहाई विषयगत श्रेणी में हैं) ऑनलाइन पुरस्कारों की संख्या का दो गुना अनुबंध-I
2. नानाजी देशमुख राष्‍ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्‍कार (आरजीजीएस) ग्राम पंचायतों को ग्राम सभा के उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रदान किया जाता है। प्रत्येक राज्य /राज्‍य संघ शासित क्षेत्रों के लिए एक पुरस्‍कार। ऑनलाइन प्रति राज्य / केंद्रशासित प्रदेश में दो / तीन है।
3. एमजीएनआरईजीएस गतिविधियों के क्रियान्वयन में श्रेष्‍ठ कार्य के लिए ग्राम पंचायतों को पुरस्कार ( यह पुरस्‍कार एमओआरडी द्वारा प्रदान किया किया जाएगा) कुल दस ऑनलाइन प्रति राज्य / संघ राज्‍य क्षेत्र में दो अनुबंध-II

दीन दयाल उपाध्याय पंचायत सशक्‍तिकरण पुरस्कार (डीडीयूपीएसपी) सेवाओं और सार्वजनिक वस्तुओं के वितरण में सुधार के लिए प्रत्येक स्तर पर पीआरआई द्वारा किए गए अच्छे कार्यों की पहचान के लिए राज्यों / संघ राज्‍य क्षेत्रों में सर्वोत्तम प्रदर्शनकारी पंचायत (जिला, मध्यवर्ती और ग्राम पंचायत) को दिया जाता है। इस साल पीएसपी के लिए नामांकन सामान्य और विषयगत श्रेणियों के लिए किए जाएंगे। विषयगत पुरस्कारों की श्रेणियों में कुल पीएसपी पुरस्कारों में से एक तिहाई का प्रस्ताव है। नौ विषयगत श्रेणियां- स्वच्छता, नागरिक सेवाएं (पेयजल, सड़क प्रकाश, बुनियादी ढांचा), प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन, हाशिये पर के वर्ग (महिला, अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, विकलांग, वरिष्ठ नागरिक), सामाजिक क्षेत्र के प्रदर्शन, आपदा प्रबंधन, ग्राम पंचायत की सहायता करने के लिए स्वैच्छिक कार्य करने वाले व्यक्ति, सीबीओ राजस्व उत्पादन और ई-शासन में नवीनता इसमे शामिल हैं।
सामान्‍य विषय के पुरस्‍कारों के लिए पीएसपी का मूल्‍यांकन के लिए पूर्णांक 100 होंगे और प्रत्‍येक विषयगत पुरस्‍कारों का मूल्‍यांकन का पूर्णांक 120 होगा। (उदाहरण के लिए 100 अंक सामान्‍य प्रश्‍नोत्‍तरी और विषयगत प्रश्‍नोत्‍तरी के लिए 20 अंक)

नानाजी देशमुख राष्‍ट्रीय ग्राम सभा पुरस्‍कार (एनडीआरजीजीएसपी) ग्राम सभाओं को शामिल करके सामाजिक-आर्थिक विकास में उत्कृष्ट योगदान के लिए ग्राम पंचायतों को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा (आरजीजीएसपी) पुरस्कार दिया जाता है।

एमजीएनआरईजीएस" के कार्यान्वयन में अच्छे कार्य के लिए पुरस्कार केवल ग्राम पंचायतों के लिए होंगे। यह पुरस्‍कार पंचायती राज मंत्रालय की सिफारिश पर ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा दिया जाएगा।

  • पुरस्कारों के लिए पंचायतों को नामांकित करते समय, राज्यों / संघ राज्‍य क्षेत्रों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि अनुसूची क्षेत्रों-V में ग्राम पंचायत और मध्यवर्ती पंचायतों को उसमें पंचायतों की संख्या के अनुपात में दर्शाया गया है।

  • राज्यों / संघ राज्‍य क्षेत्रों को नामांकन करते समय यह भी सुनिश्चित करना चाहिए कि राज्यों / संघ राज्‍य क्षेत्रों के विभिन्न हिस्सों से पंचायत का प्रतिनिधित्व हो। एक जिले से मध्यवर्ती और ग्राम पंचायतों के नामांकन प्रत्येक में दो से अधिक नहीं होना चाहिए

समय सीमा: पंचायतें (जिला, मध्यवर्ती और ग्राम पंचायत, जैसा मामला हो) पुरस्कारों के लिए ऑनलाइन आवेदन 20सितंबर, 2017th तक कर सकते हैं और राज्‍य 30 अक्टूबर 2017 तक पंचायती राज मंत्रालय को सत्यापन के बाद राज्य/ संघ राज्‍य क्षेत्र ऑनलाइन नामांकन जमा/अग्रेषित कर सकते हैं।

ऑनलाइन आवेदन फॉर्म प्रविष्‍टि के लिये शुरू कर दिए गए हैं। नवीनतम अद्यतन के लिए कृपया इस साइट को नियमित रूप से देखें। पिछले वर्ष एनआईसी द्वारा प्रदान किए गए यूजरनेम और पासवर्ड ही इस वर्ष भी उसी तरह काम करेंगे। नए यूजरनेम और पासवर्ड की जरूरत नहीं होगी। किसी तरह की भी कठिनाई होने पर पंचायती राज मंत्रालय के ई-मेल के पते awards-mopr@nic.in और panchayatawards@googlegroups.com पर संपर्क किया जा सकता है:

राज्यों / संघ राज्‍य क्षेत्रों को प्रत्येक प्रकार की प्रश्नावली के लिए कार्य प्रवाह को समय से परिभाषित और स्थिर(freeze) कर देना चाहिए ताकि पंचायतें वेबसाइट पर उपलब्‍ध प्रश्नावली के उत्तर भरने के लिए अपने क्रेडेंशियल आधार पर उसे एक्सेस कर सके।

पुरस्कार के दिशानिर्देशों और नामांकन भरने की प्रक्रिया से संबंधित आवश्यक निर्देशों के बारे में अधिक जानकारी के लिए, इच्छुक पंचायतों से अनुरोध है कि वे मंत्रालय की वेबसाइट http://panchayataward.gov.in की लिंक पर जाएं। वे ऑनलाइन नामांकन प्रारूपों को भरने में मदद के लिए राज्य के पंचायती राज विभाग के राज्य नोडल अधिकारी से भी संपर्क कर सकते हैं। प्रश्नावली के उत्‍तर को स्थिर(freeze) करते समय, पंचायत और समितियों को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि सभी विवरण सही से भरे गए हो। राज्यों/संघ राज्‍य क्षेत्रों से अनुरोध है कि वे इन पुरस्कारों का और आगे प्रचार- प्रसार करें।

Total Questionnaire Published across States/UTs

More info

Total Answer Saved across States/UTs

More info

Total Answer Frozen across States/UTs

More info

(VP)

(IP) / (VP)

(ZP) / (IP) / (VP)

Total Recommendations across States/UTs

More info